Friday, February 23, 2024
HomeSportsCricketविश्व टेस्ट चैंपियनशिप में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के दावेदार

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के दावेदार

टेस्ट क्रिकेट के पहले विश्व कप यानि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला 18 जून से इंग्लैंड के रोज बाउल स्टेडियम में खेल जाएगा। इस मुकाबले में न्यूजीलैंड और भारत का आमना-सामना होगा। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की शुरूआत 2019 में हुई थी और दो साल के बाद इसका फाइनल मुकाबला खेला जाएगा।

विश्व की टेस्ट खेलने वाली टीमों के बीच हुए कई मुकाबलों के बाद भारत और न्यूजीलैंड फाइनल में जगह बनाने में कामयाब रही। इन दो सालों के दौरान हमने कई रोमांचक टेस्ट मैच भी देखे। कई प्रदर्शन ऐसे भी रहे जो यादगार बन गए। बेन स्टोक्स, ऋषभ पंत, हनुमा विहारी आदि कई खिलाड़ियों ने ऐसी महत्वपूर्ण पारियां खेलीं जिन्हें लंबे समय तक याद किया जाएगा।

ऐसे में इस चैंपियनशिप में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब किसे दिया जाए इसका फैसला करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। इस आर्टिकल में हम आपको ऐसे खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं जो विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट बनने की दावेदारी पेश करेंगे-

मार्नस लबुशेन-

पांच बार वनडे विश्वकप चैंपियन बनने वाली ऑस्ट्रेलिया भले ही विश्व टेस्ट चैंपियशिप के फाइनल में नहीं पहुंच पाई हो। लेकिन ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज मार्नस लबुशेन ने इस टूर्नामेंट में अपनी टीम के लिए धमाकेदार प्रदर्शन किया है। इस चैंपियनशिप में उनके द्वारा किए गए प्रदर्शन ने उन्हें प्रसिद्धि भी दिलवाई और अब उनका नाम वर्तमान में ऑस्ट्रेलिया टीम के प्रमुख बल्लेबाजों में आता है। लबुशेन ने इस टूर्नामेंट के दौरान 13 मैच खेले। हालांकि उन्होंने नहीं सोचा होगा कि वे ये टूर्नामेंट खेलेंगे लेकिन स्टीव स्मिथ के चोटिल होने की वजह से उन्हें टीम में स्थान मिला और उन्होंने इस मौके को पूरी तरह भुनाया। 13 मैचों में उनके नाम 72.82 की शानदार औसत से 1675 रन दर्ज हैं। जिसमें 5 शतक व 9 अर्धशतक शामिल हैं। वे टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं और अब फाइनल में भी उनका यह रिकॉर्ड तोड़ पाने की संभावना काफी कम नजर आती है। ऐसे में वे प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट के प्रबल दावेदार हैं।

रविचंद्रन अश्विन

भारतीय टीम के दिग्गज स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने इस टूर्नामेंट में कमाल की गेंदबाजी की है और भारत को फाइनल तक पहुंचाने में उनका बड़ा योगदान है। इस टूर्नामेंट में भारत की ओर से अश्विन ने सर्वाधिक विकेट हासिल किए हैं। 13 मैचों में अश्विन के नाम 67 विकेट दर्ज हैं। अश्विन के पास इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक विकेट लेने का मौका होगा। अभी ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस इस सूची में टॉप पर है जिनके खाते में 70 विकेट दर्ज हैं। यानि उनका रिकॉर्ड तोड़ने के लिए अश्विन को 4 विकेट और झटकने हैं और अश्विन जैसे गेंदबाज के लिए इसमें शायद ही कोई मुश्किल हो। सिर्फ गेंदबाजी से नहीं बल्कि बल्लेबाजी से भी अश्विन कमाल दिखाने में सक्षम हैं। उनके नाम विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में 295 रन भी दर्ज हैं।

बेन स्टोक्स-

वर्तमान समय में दुनिया के श्रेष्ठ ऑलराउंडर खिलाड़ियों में गिने जाने वाले बेन स्टोक्स विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में इंग्लैंड के सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में बेन स्टोक्स इस समय चौथे स्थान पर है। 17 मैचों में बेन स्टोक्स ने 46.00 की औसत से 1334 रन बनाए हैं, जिसमें 4 शतक व 6 अर्धशतक भी शामिल हैं। उनके नाम 31 छक्के भी दर्ज हैं। इसके अलावा गेंदबाजी में उनके नाम 34 विकेट दर्ज हैं। एशेज में एक मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने एक यादगार पारी भी खेली थी। हालांकि इंग्लैंड फाइनल में तो नहीं पहुंच पाई लेकिन बेन स्टोक्स के शानदार ऑलराउंडर प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना जा सकता है।

अजिंक्य रहाणे

टेस्ट मैचों में टीम इंडिया के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज हैं। उन्होंने 17 मैचों में 1095 रन बनाए हैं और फाइनल मुकाबले में उनके पास और रन बनाने का मौका होगा। उन्होंने इस टूर्नामेंट में अबतक 3 शतक व 6 अर्धशतक जड़े हैं। वहीं ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उन्होंने कमाल की कप्तानी से भी सुर्खियां बटोरी। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर टीम के मुख्य कप्तान विराट कोहली एक टेस्ट के बाद स्वदेश लौट चुके थे। मुख्य खिलाड़ी भी चोटों का शिकार हो चुके थे, तब एक युवा एवं कम अनुभव वाली टीम की कप्तान अजिंक्य रहाणे ने संभाली और ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारत को ऐतिहासिक जीत भी दिलाई। यदि फाइनल मुकाबले में उनका बल्ला चलता है तो वे प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट से नवाजे जा सकते हैं।

केन विलियमसन

दुनिया के नंबर-1 टेस्ट बल्लेबाज केन विलियमसन की कप्तानी में न्यूजीलैंड विश्व टेस्ट चैंपियशिप का फाइनल खेलेगी। केन विलियमसन ने इस टूर्नामेंट में कमाल की बल्लेबाजी की है। हालांकि रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में केन विलियसमन 16वें स्थान पर हैं। लेकिन इस टूर्नामेंट में उन्होंने केवल 9 टेस्ट खेले हैं। 14 पारियों में उनके बल्ले से 58.35 की औसत से 817 रन आए हैं। जिसमें 3 शतक और 1 अर्धशतक शामिल हैं। उन्होंने पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के खिलाफ दोहरे शतक भी जड़े और फाइनल में उनके पास अपने रिकॉर्ड को और बेहतर बनाने का मौका होगा। वे विश्व टेस्ट चैंपियशिप और प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम करना चाहेंगे।

RELATED ARTICLES

Subscribe

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

https://www.myteam11.com/

Most Popular