Sunday, March 3, 2024
HomeSportsCricketमैदान में वापसी करना चाहते हैं युवराज सिंह, बीसीसीआई से मांगी अनुमति

मैदान में वापसी करना चाहते हैं युवराज सिंह, बीसीसीआई से मांगी अनुमति

भारत को 2007 का टी20 विश्व कप और 2011 का एकदिवसीय विश्व कप जिताने में अहम योगदान देने वाले टीम इंडिया के पूर्व स्टार ऑलराउंडर युवराज सिंह एक बार फिर से मैदान में अपना जलवा बिखेर सकते हैं। एक इंटरव्यू के दौरान युवराज सिंह ने ये बात कही है। युवराज सिंह ने 10 जून 2019 में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा कर दी थी।

रिपोर्ट के अनुसार, युवराज सिंह अब पंजाब की तरफ से घरेलू क्रिकेट खेलना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह को पत्र लिखकर इसकी अनुमति मांगी है।

क्रिकेट में वापसी को लेकर अपनी योजना पर युवराज सिंह का कहना है कि, “मैंने शुभमन गिल, अभिषेक शर्मा, प्रभसिमरन सिंह, अनमोलप्रीत सिंह जैसे पंजाब के कुछ युवा क्रिकेटरों के साथ मोहाली के पीसीए स्टेडियम में कुछ समय गुजारा और मुझे इसमें काफी मजा आया। मैंने उनसे खेल के विभिन्न पहलुओं पर बात भी की है, मैंने महसूस किया कि मैं जो कुछ भी उन्हें बता रहा था वो उसे अच्छे से समझ पा रहे थे।“ उन्होंने आगे कहा, “उन युवा खिलाड़ियों को खेल के कुछ और पहलुओं को बताने के लिए मुझे नेट पर जाना पड़ा। नेट पर उतरने के बाद मैंने जिस तरह से गेंद को हिट किया मुझे काफी आश्चर्य हुआ, जबकि मैंने काफी लंबे अरसे से बैट नहीं पकड़ा था।“

पीसीए सचिव पुनीत बाली ने युवराज से संन्यास से वापसी करने की पेशकश की थी।

पीसीए के सचिव पुनीत बाली पहले व्यक्ति थे जिन्होंने युवराज सिंह से पंजाब क्रिकेट के फायदे के लिये संन्यास से वापसी करने की पेशकश की थी। युवराज ने कहा कि, “मिस्टर बाली के कहने पर मैं उनके अनुरोध की अनदेखी नहीं कर सका, मैंने करीब तीन से चार हफ्तों तक इस पर काफी सोच विचार किया और यह लगभग ऐसा ही था कि अंत में मुझे सोचा समझा फैसला लेने की जरूरत नहीं थी।“

पुनीत बाली के अनुसार “पंजाब क्रिकेट को उसकी जरूरत है। बतौर खिलाड़ी और मेंटर उसमें अभी देने के लिये काफी कुछ है, मैं जानता हूं कि दो हफ्ते पहले उसने दादा(सौरव गांगुली) को पत्र लिखा है, इसका जवाब भी अब तक आ गया होगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम उसे टीम में चाहते हैं और वह जिस तरह से युवा लड़कों के मेंटर रहे हैं, वह शानदार है। मैंने उनसे कहा कि कृपया अपनी जिंदगी का कम से कम एक और साल पंजाब क्रिकेट को दे दीजिए. ’’

38 वर्षीय युवराज सिंह ने भारत के लिए 40 टेस्‍ट मैचों में 33.92 की औसत से 1900 रन बनाए, इस दौरान उन्होंने 3 शतक और 11 अर्धशतक लगाए। वहीं 304 वनडे मैचों में युवराज ने 36.55 की औसत से 8701 रन बनाए, जिसमें उनके 14 शतक और 52 अर्धशतक शामिल रहे। वहीं टी-20 करियर की बात की जाए तो युवराज सिंह ने टीम इंडिया की तरफ से 58 मैचों में 1177 रन बनाए, जिसमें 8 अर्धशतक शामिल हैं, उनके नाम टी-20 विश्वकप में एक ओवर में 6 छक्के मारने का रिकाॅर्ड दर्ज है।

MyTeam11 Desk
MyTeam11 Desk
A creative team of writers exploring the sports world from each & every end to serve you with exciting and engaging sports feed. Stay updated with all the recent occurences with our latest updates.  
RELATED ARTICLES

Subscribe

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

https://www.myteam11.com/

Most Popular