Tuesday, March 5, 2024
HomeSportsCricketफ्रैंचाइजी क्रिकेट के टॉप-10 कप्तान

फ्रैंचाइजी क्रिकेट के टॉप-10 कप्तान

क्रिकेट की दुनिया में इस समय फ्रैंचाइजी क्रिकेट का दबदबा है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेली जाने वाली फ्रैंचाइजी क्रिकेट लीग व्यवसायिक रूप से भी काफी सफल हैं। इन लीग्स की दिवानगी के कारण डेढ दशक में ही इनकी लोकप्रियता ने आसमान छू लिया है। वहीं कुछ खिलाड़ी ऐसे भी हैं जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट ज्यादा नहीं खेलते हैं लेकिन इन लीग्स में लाजवाब प्रदर्शन करते हैं। कुछ खिलाड़ियों ने इन लीग्स के कारण अंतरराष्ट्रीय पटल पर अपनी पहचान बनाई है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से रिटायरमेंट ले चुके खिलाड़ी भी इन लीग्स में अपना जलवा बिखेरते नजर आते हैं।

इंडियन टी20 लीग शुरू होने के बाद फ्रैंचाइजी क्रिकेट में बूम आया है। इंडियन टी20 लीग के तर्ज पर ही, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, वेस्टइंडीज, बांग्लादेश, न्यूजीलैंड और श्रीलंका में भी ऐसी लीग्स का आयोजन हुआ है। इन लीग्स में कुछ ऐसी टीमें हैं जो लगभग सबकी पंसदीदा होती है। इन टीमों की सफलता का श्रेय खिलाड़ियों के साथ कप्तानों को भी जाता है। इस आर्टिकल में ऐसे ही कप्तानों के बारे में बताया जा रहा है, जो फ्रैंचाइजी क्रिकेट के सबसे सफल कप्तान रहे हैं-

10. शोएब मलिक-

टी20 क्रिकेट के अनुभवी खिलाड़ियों की बात की जाती है क्रिस गेल और एबी डिविलियर्स जैसे खिलाड़ियों की चर्चा जरूर की जाती है। लेकिन शोएब मलिक के बारे में उतनी चर्चा नहीं होती। हालांकि शोएब मलिक टी20 फॉर्मेट के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से हैं। उन्होंने इस फॉर्मेट में 10 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं। शोएब मलिक बेहतरीन कप्तान भी हैं और कई फ्रैंचाइजी टीमों की कप्तानी कर चुके हैं। उनकी कप्तानी में पाकिस्तान टी20 विश्वकप का फाइनल भी खेल चुका है। उनके नेतृत्व में गुयाना अमेज़न वॉरियर्स लगातार दो साल कैरेबियन टी20 लीग के फाइनल में पहुंची। पाकिस्तान कप में सियालकोट ने उनकी कप्तानी में रिकॉर्ड 8 बार कप जीता है।

9. साइमन कैटिच

साइमन कैटिच ऑस्ट्रेलिया के मध्यक्रम के बल्लेबाज थे जिन्होंने दबाव में कई महत्वपूर्ण पारियां खेलीं। उन्होंने अपने देश की ओर से 56 टेस्ट मैच खेले जिसमें 45 के औसत से 10 शतक भी उनके नाम दर्ज हैं। साइमन कैटिच फ्रैंचाइजी  क्रिकेट में भी काफी प्रभावशाली थे। विशेष रूप से ऑस्ट्रेलिया टी20 लीग में जहां उन्होंने 100 से अधिक मैच खेले हैं और 30 की औसत से 2500 के करीब रन बनाए हैं। उनकी कप्तानी भी बहुत अच्छी थी।

उन्होंने ऑस्ट्रेलिया टी20 लीग के 2013-14 संस्करण में बतौर कप्तान पर्थ-एस को खिताब भी दिलाया। उन्होंने बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया और बिताया और टूर्नामेंट में कई बार अपनी बैटिंग पोजिशन का भी त्याग किया ताकि युवाओं को अधिक मौका मिल सके। एक कप्तान के रूप में उनके निस्वार्थ स्वभाव ने उन्हें प्रतिष्ठा दिलवाई।

8. सरफराज अहमद

सरफराज अहमद की बहुत गुस्सा जाहिर करने के लिए आलोचना भी की जाती है। लेकिन उन्होंने अपनी कप्तानी में काफी प्रभावित किया है। लेकिन लोगों को उनके द्वारा पाकिस्तान को दिलाई गई चैंपियंस ट्रॉफी ही याद है। लेकिन इसके अलावा भी उन्होंने बहुत कुछ किया है। उनकी कप्तानी में ही पाकिस्तान टी20 अंतरराष्ट्रीय में काफी लंबे समय तक नंबर-1 पर रहा था। सरफराज पाक टी20 लीग में भी सबसे सफल कप्तान हैं। 55 प्रतिशत जीत के साथ उनके नाम 29 जीत दर्ज है। 2016 और 2017 में उन्होंने क्वैटा को फाइनल तक पहुंचाया। 2019 में उन्होंने बतौर कप्तान क्वैटा के लिए पाक टी20 लीग की खिताब भी जीता।


7. मशरफे मुर्तजा

मशरफे मुर्तजा एक बांग्लादेशी क्रिकेटर हैं जिन्हें दुनिया भर में अपार सम्मान मिलता है। क्योंकि उनकी कप्तानी में बांग्लादेश एक सशक्त टीम बनकर उभरी और उनकी कप्तानी में ही बांग्लादेश ने कई बड़ी टीमों को मात दी। घरेलू लीग में भी उनकी कप्तानी बेहद शानदार रही। 2015-16 सीजन में उन्होंने कोमिला टीम को अपनी कप्तानी में खिताब दिलवाया। 86 मैचों में कप्तानी करने के बाद भी उनकी जीत का प्रतिशत 62 है जो कि काफी आश्चर्यजनक है और यह किसी भी बांग्लादेशी कप्तान से ज्यादा है। गेंदबाज के रूप में भी मशरफे मुर्तजा ने शानदार काम किया। पारी की शुरुआत में ही उन्हें विकेट लेने का हुनर आता था। आने वाले समय में बीपीएल को निश्चित रूप से अपने सबसे सफल कप्तान की कमी खलेगी।

6. मोइसिस हेनरिक्स

ऑस्ट्रेलिया टी20 लीग में मोइसिस हेनरिक्स ने सिडनी एस के लिए बेहतरीन कप्तानी की है। मोइसिस की कप्तानी में खास बात यह है कि वे सभी खिलाड़ियों को मौका देना अच्छे से जानते हैं। वह हमेशा एक बेहतरीन ऑलराउंडर रहे हैं। हालाँकि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया का पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं किया है, लेकिन भविष्य में उनके पास मौके होना निश्चित है। क्योंकि उनके पास कमाल की लीडरशिप क्वालिटी है। पिछले दो सीजन में वे सिडनी-एस को बतौर कप्तान दो कप दिलवा चुके हैं। वे अपने खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करते हैं जो उनके प्रदर्शन में भी देखने को मिलता है। यदि वे भविष्य में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान नियुक्त किए जाते हैं तो इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

5. गौतम गंभीर

गौतम गंभीर को अपने करियर में कई बार विवादों का सामना करना पड़ा। लेकिन एक खिलाड़ी के रूप में भारतीय क्रिकेट में उनका योगदान काफी अहम है। बड़े और अहम मौकों पर उन्होंने दबाव में भारत के लिए बेहतरीन पारियां खेलीं जिसमें 2007 टी20 विश्वकप फाइनल और 2011 विश्वकप फाइनल की पारियां भी दर्ज हैं। इंडियन टी20 लीग में उन्होंने कोलकाता टीम की सफल कप्तानी की। उनके कप्तान बनाए जाने से पहले कोलकाता की हालत खराब थी। उन्होंने अपनी कप्तानी में कोलकाता को 2 बार इंडियन टी20 लीग का खिताब भी दिलाया। ऐसे में वे इंडियन टी20 लीग के बेहतरीन कप्तानों में शामिल हैं। लेकिन वे कभी टीम इंडिया की कप्तानी नियमित तौर पर नहीं कर पाए।

4. ड्वेन ब्रावो

ड्वेन ब्रावो का नाम इस सूची में देखकर बहुत से लोगों को आश्चर्य हो सकता है। क्योंकि इंडियन टी20 लीग में हमने ब्रावो को चेन्नई की ओर से सिर्फ बतौर ऑलराउंडर खेलते देखा है। लेकिन वे अपनी घरेलू टी20 लीग यानि कैरेबियन टी20 लीग में कप्तान की भूमिका में होते हैं। वे घरेलू क्रिकेट में भी अपनी टीम की कप्तानी कर चुके हैं। कैरेबियन टी20 लीग में उनकी कप्तानी की बात की जाए तो वे इस लीग के सबसे सफल कप्तान हैं। 50 से अधिक मैचों में कप्तानी करने वाले खिलाड़ियों के मामले में ड्वेन ब्रावो का प्रतिशत सर्वाधिक है। उन्होंने 2015 और 2017 के कैरेबियन टी20 लीग सीजन में त्रिनिदाद को अपनी कप्तानी में ट्रॉफी दिलवाई है। 2015 सीजन में वे प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट भी रहे थे जो कि यह दिखाता है कि कप्तानी करते समय वे दबाव में नहीं होते हैं।

3. कीरोन पोलार्ड

वेस्टइंडीज के कीरोन पोलार्ड टी20 क्रिकेट के सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों में शुमार हैं। कीरोन पोलार्ड अनुभवी ऑलरांउडर खिलाड़ी हैं बैटिंग में वे लंबे-लंबे छक्के लगाते ही हैं, गेंदबाजी में भी कमाल दिखाते हैं। फील्डिंग के मामले में भी वे काफी चौकस रहते हैं। इंडियन टी20 लीग में मुंबई की ओर से खेलते हैं और कई मौकों पर मुंबई की कप्तानी भी कर चुके हैं। लेकिन अपनी घरेलू क्रिकेट लीग यानि कैरेबियन टी20 लीग में उन्होंने कप्तानी में अपने जलवे दिखाए हैं। 2020 के कैरेबियन टी20 लीग सीजन में उन्होंने त्रिनिदाद को अपनी कप्तानी में कप दिलवाया था। इस सीजन में त्रिनिदाद एक भी मैच नहीं हारी थी। 2014 में उन्होंने बारबाडोस को अपनी कप्तानी में कप दिलवाया। बारबाडोस ने उनकी कप्तानी में कुछ संस्करणों में फाइनल में भी जगह बनाई है। इसलिए वे फ्रैंचाइजी क्रिकेट के बेहतरीन कप्तानों में से एक हैं।

2. रोहित शर्मा

यदि आंकड़ो की बात की जाए तो इंडियन टी20 लीग में रोहित शर्मा सबसे सफल कप्तान हैं। उन्होंने 8 सीजन में मुंबई की कप्तानी की है, इनमें से 5 बार उन्होंने मुंबई को खिताब दिलाया है। 2013 में रिकी पोटिंग के बाद रोहित शर्मा को मुंबई का कप्तान बनाया गया। इससे पहले मुंबई प्लेऑफ में क्वालीफाई करने के लिए भी संघर्ष कर रही थी। लेकिन रोहित शर्मा को कप्तान बनाने के बाद मुंबई ने 2013 में पहली बार खिताब अपने नाम किया। उसके बाद उन्होंने चार और खिताब अपने नाम किए।

रोहित शर्मा के लिए इंडियन टी20 लीग की ट्रॉफी जीतना एक सामान्य बात लगती है। लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि रोहित के पास एक सशक्त टीम है जिसकी बदौलत उन्होंने 5 बार खिताब पर कब्जा जमाया है। लेकिन उन्होंने कई बार अपनी कुशल रणनितियों की बदौलत अपनी टीम को सफलता दिलवाई है। इसलिए प्रशंसक विराट कोहली की जगह रोहित शर्मा को टीम इंडिया के कप्तान के रूप में देखना चाहते हैं।


1. महेंद्र सिंह धोनी

कप्तानों की सूची बनाई जाए और उसमें महेंद्र सिंह धोनी का नाम नहीं हो यह असंभव है। एम एस धोनी आज कई युवा क्रिकेटरों की प्रेरणा है। उन्होंने कई वर्षों तक भारतीय क्रिकेट टीम की कमान संभाली और भारत को वनडे व टी20 विश्व कप के अलावा चैंपियंस ट्रॉफी भी दिलवाई। वे आईसीसी के तीनों बड़े टूर्नांमेंट जीतने वाले विश्व के एकमात्र कप्तान हैं।

इंडियन टी20 लीग में भी उन्होंने कप्तानी में झंडे गाड़े उनकी कप्तानी में चेन्नई ने 3 बार खिताब जीता। उनकी कप्तानी में चेन्नई केवल एक बार प्लेऑफ तक पहुंचने में असफल रही है। इसलिए उन्हें इस सूची में टॉप पर रखा गया है। 2010 और 2011 में उन्होंने लगातार चेन्नई को खिताब दिलवाए। चेन्नई पर लगे 2 साल के बैन के बाद 2018 में फिर से उन्होंने चेन्नई को चैंपियन बनाया।

RELATED ARTICLES

Subscribe

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

https://www.myteam11.com/

Most Popular