Tuesday, March 5, 2024
HomeSportsCricketक्रिकेटर्स के कुछ ऐसे रिकाॅर्ड्स जिनके बारे में नहीं जानते होंगे आप

क्रिकेटर्स के कुछ ऐसे रिकाॅर्ड्स जिनके बारे में नहीं जानते होंगे आप

क्रिकेट के खेल में लगभग हर मैच में कोई न कोई नया रिकाॅर्ड बनता है या कोई पुराना रिकाॅर्ड टूटता है। क्रिकेट के चाहने वालों को क्रिकेट के रिकाॅर्ड्स के बारे में जानकारी होती है, कई बड़े और महान क्रिकेटर्स के द्वारा बनाए गए रिकाॅर्ड्स के बारे में तो सभी को पता होता है, जैसे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर है, सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले मुरलीधरन हैं, वनडे में तीन दोहरे तक लगाने वाले बल्लेबाज रोहित शर्मा हैं।

लेकिन हम आपको बताएंगे कुछ बड़े क्रिकेटर्स द्वारा बनाए गए ऐसे रिकाॅर्ड्स के बारे में जिनके बारे में बहुत कम ही लोग जानते होंगे। आइए जानते हैं ऐसे ही मजेदार रिकाॅर्ड्स के बारे में-

  • मिस्बाह उल हक- वनडे में बिना कोई सेंचुरी लगाए सबसे ज्यादा रन

जी हां, मिस्बाह पाकिस्तान की टीम के एक मजबूत खिलाड़ी रह चुके हैं, वे 75 टेस्ट मैचों में 10 सेंचुरी जड़ चुके हैं, लेकिन अपने करियर के 162 वनडे इंटरनेशनल मैचों में उनके नाम एक भी सेंचुरी दर्ज नहीं है। हालांकि उन्होंने 162 मैचों में 5122 रन बनाए हैं जो कि एक रिकाॅर्ड है बिना सेंचुरी लगाए सबसे ज्यादा रन बनाने का, उनके नाम वनडे मैचों में 42 अर्धशतक दर्ज हैं और उनका वनडे में सर्वोच्च स्कोर 96 रन रहा। है ना मजेदार?

  • शेन वार्न – टेस्ट में बिना सेंचुरी लगाए सबसे ज्यादा रन

जो रिकाॅर्ड वनडे में पाकिस्तान के मिस्बाह उल हक के नाम है वही रिकाॅर्ड टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलिया  के महान लेग स्पिनर शेन वार्न के नाम है। 145 टेस्ट मैचों में वार्न ने 708 विकेट चटकाए और दुनियाभर के बल्लेबाजों को परेशान किया। हालांकि वे एक अच्छे बल्लेबाज भी थे, टेस्ट की 199 पारियों में उन्होंने 3154 रन बनाए जिसमें 12 अर्धशतक शामिल हैं, ये किसी भी बल्लेबाज द्वारा बिना शतक लगाए बनाए गए सबसे अधिक रन हैं, टेस्ट मैच में उनका सर्वोच्च स्कोर 99 रन हैं, वे शतक से चूक गए थे, और बाद में ये भी पता चला था कि जिस गेंद पर वे आउट हुए वो नो बाॅल थी, शायद सेंचुरी लगाना उनकी किस्मत में ही नहीं था।

  • वनडे में सबसे ज्यादा डक (शून्य) पर आउट होने का रिकाॅर्ड

आप सोच रहे होंगे कि ये रिकार्ड षायद किसी पुछल्ले बल्लेबाज के नाम होगा, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं ये रिकाॅर्ड है श्रीलंका के महान बल्लेबाज और धाकड़ ओपनर सनथ जयसूर्या के नाम। एक बल्लेबाज के नाम ऐसा रिकाॅर्ड होना वाकई अचरज भरा है, जयसूर्या ने 445 एकदिवसीय मैच खेले जिनमें 28 शतकों की मदद से उन्होंने 13430 रन बनाए। इन मैचों में 34 बार वे बिना खाता खोले ही पवैलियन भी लौट गए, वनडे मैचों में इतनी बार शून्य पर आउट होने वाले वे पहले बल्लेबाज हैं, हालांकि ये एक ऐसा रिकाॅर्ड है जिसका ज़िक्र करना वे कभी पसंद नहीं करते होंगे।

  • एक टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने के बाद भी टीम का हार जाना

जी हां, ये एक ऐसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने टेस्ट की दोनों पारियों में शतक लगाया लेकिन फिर भी इनकी टीम हार गई। इनमें एक दोहरा शतक भी षामिल था। ये रिकाॅर्ड है वेस्ट इंडीज के महान बल्लेबाज ब्रायन लारा के नाम, साल 2001 में श्रीलंका के खिलाफ खेले गए एक टेस्ट मैच की पहली पारी में लारा ने वेस्ट इंडीज की ओर से दोहरा शतक जड़ा, उन्होंने 221 रन बनाए लेकिन टीम का कुल स्कोर 390 ही पहुंच पाया, जवाब में श्रीलंका ने 627 रन बना डाले, और दूसरी पारी में भी वेस्ट इंडीज की टीम 262 रन बना पाई जिसमें लारा की 130 रन की पारी शामिल थी। अंत में श्रीलंकाई टीम ने ये मैच जीत लिया, और ऐसा पहली बार हुआ जब किसी बल्लेबाज ने एक मैच में 351 रन बनाए हों और वो टीम हार गई हो, है ना मजेदार?

  • सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए टेस्ट की एक पारी में सबसे बड़ा स्कोर

आपने कभी सुना है कि एक सातवें नंबर के बल्लेबाज ने एक पारी में 270 रन बनाए हों, नहीं ना? लेकिन दुनिया के महान बल्लेबाजों में गिने जाने वाले सर डाॅन ब्रैडमेन ये कारनामा कर चुके हैं। 1937 में इंग्लैण्ड के खिलाफ खेली जा रही ऐशेज सीरीज़ में उन्होंने ये कारनामा किया। एक मैच में इंग्लैण्ड ने ऑस्ट्रेलिया  को 200 रनों पर समेट दिया और अपनी पारी केवल 76 रनों पर डिक्लेयर कर दी क्योंकि पिच उस समय गीला था और बैटिंग के लिए मुश्किल हो रही थी, इसी को देखते हुए कप्तान ब्रैडमेन ने अपना बल्लेबाजी क्रम ही उलट दिया ताकि उनके मजबूत बल्लेबाज पिच सही हो जाने के बाद बैटिंग करने जाए और ऐसा ही हुआ, इसलिए वे सात नंबर पर बल्लेबाजी करने आए और 270 रन बना डाले, ये सात नंबर के बल्लेबाज द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर है। ऐसे ही उन्हें ‘सर‘ नहीं कहा जाता।

  • टेस्ट मैच की एक पारी में सर्वाधिक छक्के लगाने का रिकाॅर्ड

ये पढ़कर जरूर आपके मन में किसी धाकड़ बल्लेबाज की तस्वीर आई होगी, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है, बल्कि ये कारनाम किया है पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने। 1996 में जिम्बाब्वे के खिलाफ एक टेस्ट मैच में उन्होंने आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 257 रन बनाए थे, इस पारी में उन्होंने 12 छक्के जड़े थे, एक गेंदबाज द्वारा निचले क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए इतना बड़ा स्कोर बनाना और 12 छक्के जड़ना वाकई हैरान कर देने वाला है। अकरम का ये रिकाॅर्ड आज तक कायम है।

तो ये थे क्रिकेट की दुनिया के कुछ मजेदार रिकाॅर्ड्स!

RELATED ARTICLES

Subscribe

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.

https://www.myteam11.com/

Most Popular