इंडियन टी20 लीग: रेटिंग के आधार पर कौन सी टीम है खिताब की सबसे मजबूत दावेदार

Indian T20 League के 13वें सीजन में अब बहुत कम समय रह गया है और सभी टीमें यूएई पहुंच कर अभ्यास शुरू कर चुकी हैं। 19 सितंबर से होने वाले इस टूर्नामेंट में इस बार बहुत सारे बदलाव हैं, यह बदलाव दुनियाभर में फैली महामारी के कारण हुए हैं। लेकिन टूर्नामेंट के प्रति लोगों का प्यार और उत्साह अभी भी बना हुआ है।

हर बार टूर्नामेंट की पसंदीदा टीमें चेन्नई, मुंबई, कोलकाता या हैदराबाद होती हैं, लेकिन 2020 में खेला जाना वाला टूर्नामेंट थोड़ा अलग होगा क्योंकि दुनियाभर के सभी क्रिकेट खिलाड़ी कई महीनों से क्रिकेट से दूर थे, सभी लंबे समय बाद मैदान में वापसी करेंगे। इस लेख में हम टूर्नामेंट की टीमों का विश्लेषण हाल की परिस्थितियों और पिछले प्रदर्शन को देखते हुए रेटिंग के आधार पर करेंगे।

8. दिल्ली 3/10

टूर्नामेंट में दिल्ली टीम के इतिहास पर नजर डाली जाए तो, यह मालूम चलता है कि टीम कभी भी लीग के फाइनल मुकाबले में नहीं पहुंची है। यही कारण है कि शायद दिल्ली टीम दर्शकों में उतनी लोकप्रिय नहीं है। लेकिन दिल्ली ने श्रेयस अय्यर की कप्तानी में पिछले सीजन में अपने प्रदर्शन को सुधारा है, इस बार दिल्ली कोई बड़ा धमाका कर सकती है, क्योंकि इस बार टीम काफी संतुलित दिखाई दे रही है, और टीम के कोच होंगे रिकी पोंटिंग इसी के साथ टीम में शिखर धवन, कगिसो रबाडा, शिम्रोन हेटमायर, अमित मिश्रा और मार्कस स्टोयनिस जैसे खिलाड़ी भी हैं जो टीम को मजबूती प्रदान करेंगे।

7. बैंगलोर 4/10

बैंगलोर एक ऐसी टीम है जिसके बहुत सारे फैंस है और टीम कागजों में बेहद संतुलित दिखाई देती है, लेकिन अभी तक टीम ने एक बार भी लीग में चैंपियन बनने की खुशी अपने प्रशंसकों को नहीं दी है। टीम के कप्तान भारतीय दिग्गज विराट कोहली और एबी डिविलियर्स टीम के प्रमुख स्तंभ है और उन्हीं पर टीम की अधिकतम बल्लेबाजी टिकी हुई है यही कारण है कि टीम ने बल्लेबाजी में जितने भी रिकाॅर्ड बनाए है वे इन दोनों खिलाड़ियों की बदौलत ही बनाए है। अंतिम ओवरों में अच्छे गेंदबाज की कमी बैंगलोर को खल सकती है। लेकिन यूएई में परिस्थितियां शायद बैंगलोर के अनुकूल हो सकती हैं, इसलिए संभावना है कि नवदीप सैनी, उमेश यादव और युजवेंद्र चहल उनके लिए अच्छा काम कर सकते हैं।

6. राजस्थान 4/10

पहला इंडियन टी20 लीग का खिताब जीतने के बाद राजस्थान की टीम एक बार भी खिताब के करीब नहीं पहुंची है। इस बार राजस्थान के कप्तान होंगे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी स्टीव स्मिथ जिनके नेतृत्व में टीम शायद पहले से उम्दा प्रदर्शन कर सकती है। टीम में और भी कई बड़े नाम है, जैसे- बेन स्टोक्स, जोफ्रा आर्चर और जोस बटलर इन खिलाड़ियों के शामिल हो जाने से टीम मजबूत नजर आ रही है। लेकिन स्टोक्स टूर्नामेंट में खेलेंगे या नहीं यह अभी भी असमंजस बना हुआ है। स्टोक्स की अनउपलब्धता उन पर बड़ा प्रभाव डाल सकती है, यदि वे खेलते हैं तो राजस्थान से इस बार चैंपियन बनने की उम्मीद होगी।

5. पंजाब 5/10

पंजाब की टीम ने अभी तक कोई भी इंडियन टी20 लीग का खिताब अपने नाम नहीं किया है। लेकिन इस बार उनकी टीम काफी संतुलित नजर आ रही है, पंजाब टीम के हेड कोच हैं अनिल कुंबले जो अनुभव से टीम का मार्गदर्शन करेंगे साथ ही उनके नए कप्तान होंगे के एल राहुल, जिन्होंने अपने प्रदर्शन से सभी का दिल जीता है, वे इस बार टीम में अहम भूमिका निभाएंगे। साथ ही सिक्सर किंग क्रिस गेल भी उनके साथ जुड़ गए है, खतरनाक सलामी जोड़ी और मोहम्मद शमी और निकोलस पूरण जैसे खिलाड़ियों के साथ टीम मजूबत लग रही है। टीम का रिकाॅर्ड यूएई में सबसे उम्दा रहा है, पिछली बार यूएई में खेले गए टूर्नामेंट में टीम ने सभी पांच मैच जीते थे। लेकिन टीम को विशेषज्ञ स्पिन गेंदबाज की कमी खल सकती है।

4. कोलकाता 6/10 

पिछले वर्ष लीग में कोलकाता ने शानदार प्रदर्शन किया था, लेकिन प्ले ऑफ में जगह नहीं बना पाई थी। कोलकाता टीम दो बार लीग का खिताब जीत चुकी है, अब दिनेश कार्तिक कोलकाता के कप्तान है, पिछले सीजन में आंद्रे रसैल ने काफी धमाकेदार प्रदर्शन किया था, इसलिए इस बार भी उन पर सभी की नजरें होंगी। इयोन मोर्गन, पैट कमिंस और टॉम बैंटन को टीम में शामिल करने के बाद टीम संतुलित है। लेकिन सुनील नरेन के अलावा टीम में कोई भी विशेषज्ञ स्पिनर नहीं है, जिसका खामियाजा टीम को भुगतना पड़ सकता है।

3. चेन्नई 7/10

चेन्नई इस टूर्नामेंट की सबसे लोकप्रिय टीम मानी जाती है, उनके कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपने बेमिसाल नेतृत्व के लिए जाने जाते हैं, दो बार की चैंपियन टीम चेन्नई के पास कई फाइनल खेलने का अनुभव भी है। लेकिन इस सत्र में चेन्नई के सामने कुछ मुश्किलें पेश आ सकती हैं, क्योंकि उनके दो प्रमुख खिलाड़ी सुरेश रैना और हरभजन सिंह टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगे। लेकिन फिर भी चेन्नई टूर्नामेंट के प्रबल खिताबी दावेदारों में शामिल हैं।

2. हैदराबाद 8/10

निश्चित रूप से हैदराबाद इस बार की पंसदीदा टीमों में से एक है और टीम जिस तरह प्रदर्शन कर रही है टीम की लोकप्रियता में इजाफा हो रहा है। डेविड वार्नर टीम के कप्तान है और इंडियन टी20 लीग में उनके प्रदर्शन से सभी वाकिफ हैं। एक मजबूत बल्लेबाजी लाइनअप के साथ उनके पास घातक गेंदबाजी आक्रमण भी है, केन विलियमसन, जाॅनी बेयरस्टो के अलावा राशिद खान, मोहम्मद नबी, और भुवनेश्वर कुमार उनकी टीम के प्रमुख खिलाड़ी होंगे और टीम की दावेदारी को मजबूत करेंगे।

1. मुंबई 9/10

मुंबई टूर्नामेंट की सबसे सफल टीम है इसलिए टीम को इस बार भी खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है। रोहित शर्मा टीम के कप्तान है और उनकी कप्तानी में टीम 4 बार चैंपियन बन चुकी है। हांलाकि उनकी टीम में इस बार मलिंगा शामिल नहीं हो पाएंगे, लेकिन रोहित शर्मा, हार्दिक पांड्या, क्विंटन डी कॉक, क्रिस लिन, कीरोन पोलार्ड, जसप्रीत बुमराह जैसे सितारों सजी टीम चैंपियन बनने का दावा पेश करेगी। लेकिन मुंबई टीम अब तक विषम वर्षों जैसे कि, 2013, 2015, 2017 और 2019 में चैंपियन बनी है, लेकिन मुंबई टीम में क्षमता है कि वो अपने खिताब का बचाव कर सकती है।